तुम हो !(कवि अजय शंकर तिवारी)

1
503

 तुम हो !(कवि अजय शंकर तिवारी)

मेरी सोच कल्पना तुम हो!
मेरे ख्वाबों की रचना तुम हो !
मैं हूं क्योंकि तुम हो !
मेरे होने का बहाना तुम हो !
मैं कवि कलम तुम हो !
हर कविता की रचना तुम हो !
मेरे दिल”’ में तुम हो!
दिल की हर धड़कन में तुम हो!
राहें तुम हो मंजिल तुम हो!
एक खूबसूरत सा सपना तुम हो!
मेरा कर्म तुम हो धर्म तुम हो !
मेरा हर ईमान तुम हो !
मेरी प्रेरणा तुम हो बरकत तुम हो!
मेरे चेहरे की मुस्कान तुम हो!
कसमें तुम हो वादे तुम हो !
मेरे सपनों की तस्वीर तुम हो!
कामना तुम हो साधना तुम हो!
मेरे जीवन की पूर्णिमा तुम हो !
शिव में तुम शिवा में तुम हो !
मंत्रों की ध्वनि में तुम हो !
पूजा हो तुम अर्चना तुम हो !
भक्ति तुम हो बंदना तुम हो!
हर गीत में तुम हो स्वर में तुम हो !
हर संगीत की सरगम तुम हो !
मानो दुनिया में तुम ही तुम हो !
हर तासीर में तुम हो !
मिलन भी तुम हो विरह भी तुम हो !
एक लंबा इंतजार भी तुम हो !
जीवन राह की रोशनी तुम हो !
प्राण दीप की ज्योति तुम हो !
सहज प्रभाव भावना तुम हो!
निर्मल मन की पवित्रता तुम हो!
शक्ति हो तुम सफलता तुम हो !
हर मकसद में तुम हो !
रसों में श्रृंगार तुम हो !
अलंकार श्रेष्ठ में उपमा तुम हो !
हर दर्द की औषधि तुम हो !
सुंदर सा एहसास तुम हो!
मेरी कलम में तुम हो !
हर अक्षर में तुम हो !
हर शब्द का मायना तुम हो!
मेरे प्यार का नगमा तुम हो!
मेरे मन की सुषमा तुम हो !
मैं हूं क्योंकि तुम हो !!
मेरे होने का बहाना तुम हो!


कविअजय शंकर तिवारी
संचालक. आदर्श इंग्लिश मीडियम स्कूल साईंखेड़ा
पता. स्टेट बैंक के पास साईंखेड़ा
तहसील.. गाडरवारा
जिला.. नरसिंहपुर
(म. प्र.) पिन. 487661
मो. 9993606232

Loading...
SHARE
Previous articleविश्वासघात (देवेंद्र सोनी)
Next articleदीपमाला(नीलिमा शर्मा नीविया) कवितायें
अचिन्त साहित्य (बेहतर से बेहतरीन की ओर बढ़ते कदम) यह वेबसाईट हिन्दी साहित्य--गद्य एवं पद्य ,छंदबद्ध एवं छंदमुक्त ,सभी प्रकार की साहित्यिक रचनाओं का रसास्वादन करवाने के साथ-साथ,प्रत्येक वर्ग --(बाल ,युवा एवं वृद्ध ) के पाठकों के हिन्दी ज्ञान को समृद्ध करने एवं उनकी साहित्यिक जिज्ञासा का शमन करने हेतु प्रयासरत है। हिन्दी भाषा,साहित्य एवं संस्कृति के विपुल एवं अक्षुण्ण भंडार में अपना साहित्यिक योगदान डालने,समाज एवं साहित्य के प्रति अपने दायित्व का निर्वाह करने हेतु यह वेबसाईट प्रतिबद्ध है। साहित्य,समाज और शिक्षा पर केन्द्रित इस वेबसाईट का लक्ष्य निस्वार्थ हिन्दी साहित्य सेवा है। डॉ.पूर्णिमा राय, शिक्षिका एवं लेखिका, अमृतसर(पंजाब)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here