भारतमाता के दो महान सपूतों :महात्मा गाँधी और लालबहादुर शास्त्री जी को आज उनके जन्मदिवस पर नमन

0
107

1)*भारतमाता के दो महान सपूतों ,महात्मा गाँधी और लालबहादुर शास्त्री जी को आज उनके जन्मदिवस पर समर्पित चंद पंक्तियाँ*

जय-जवान जय-किसान।
बोल रहा है जहान।।
आन बान और शान।
शास्त्री बनें महान।।

विजयघाट पुण्य भूमि।
हिन्द देश कर्म भूमि।।
धर्म सत्य की मिशाल।
मात भारती के लाल।।

पुजारी सत्य अहिंसा के।
विरोधी हिंसक हिंसा के।।
गाँधी बापू राष्ट्रपिता।
राजघाट में जली चिता।।

दांडी यात्रा का वो वीर।
साबरमती का शूरवीर।।
युगपुरुष वो भारतीय।
आज भी है वन्दनीय।।

आशीष पाण्डेय ज़िद्दी।
9826278837
2अक्टूबर 2017

 

2)भारतमाता के दो महान सपूतों ,महात्मा गाँधी और लालबहादुर शास्त्री जी को आज उनके जन्मदिवस पर नमन( सुधीर सिंह )

एक ने जंग लिया
एक ने जीता दिल
एक ने पराक्रम दिखाया
एक ने मानवता का पाठ पढ़ाया
एक ने दिशा बताई
एक ने नेतृत्व किया
एक से अंग्रेज डरकर भागा
एक से पाक घबराया
एक ने अहिंसा अपनाया
एक ने जीवटता दिखलाई
एक ने बिना शस्त्र संग्राम किया
एक ने वाणी से संग्राम किया
एक ने मानवता खातिर अनशन किया
एक ने अकाल पर सोमवार का व्रत लिया।
एक बापू कहाए
एक देश का लाल कहाये।

सुधीर सिंह सुधाकर
राष्ट्रीय संयोजक
मगसम (साहित्यिक समूह~दिल्ली)

निम्न लिंक अवश्य पढ़ें

http://www.hforhindi.com/mahatma-gandhi-ki-atmakatha/

 

Loading...
SHARE
Previous articleवर्तमान सन्दर्भ :युवा एवं गांधी दर्शन
Next articleधरा के लाल
अचिन्त साहित्य (बेहतर से बेहतरीन की ओर बढ़ते कदम) यह वेबसाईट हिन्दी साहित्य--गद्य एवं पद्य ,छंदबद्ध एवं छंदमुक्त ,सभी प्रकार की साहित्यिक रचनाओं का रसास्वादन करवाने के साथ-साथ,प्रत्येक वर्ग --(बाल ,युवा एवं वृद्ध ) के पाठकों के हिन्दी ज्ञान को समृद्ध करने एवं उनकी साहित्यिक जिज्ञासा का शमन करने हेतु प्रयासरत है। हिन्दी भाषा,साहित्य एवं संस्कृति के विपुल एवं अक्षुण्ण भंडार में अपना साहित्यिक योगदान डालने,समाज एवं साहित्य के प्रति अपने दायित्व का निर्वाह करने हेतु यह वेबसाईट प्रतिबद्ध है। साहित्य,समाज और शिक्षा पर केन्द्रित इस वेबसाईट का लक्ष्य निस्वार्थ हिन्दी साहित्य सेवा है। डॉ.पूर्णिमा राय, शिक्षिका एवं लेखिका, अमृतसर(पंजाब)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here