कितनी बातें तुम से करनी हैं!!

0
114

         कितनी बातें तुम से करनी हैं!!

            अर्पणा संत सिंह,जमशेदपुर
सुनों न
कितनी बातें तुम से करनी है
कुछ दिल की बातें
सागर की गहराई मे छिपी मोती सी बातें
आकाश की ऊंचाई को छूतीं बातें
जो आज की नहीं
बरसों से दिल में लावा की तरह ऊबलती बातें
कुछ अनकही
अधूरी बातें
हाँ
आज सुन भी लो
मेरी कुछ अधूरी बातें
तुम सोचते होंगे
मैं तुम्हारे रूप रंग
पद प्रतिष्ठा
धन दौलत
तुम्हारा मादक मुस्कान
दिलकश व्यक्तित्व
चंचल आत्मविश्वास से भरी आंखें
रूमानियत से लबालब बातें से
आकर्षित हूँ
मुग्ध हूँ
और तुमसे प्रेम करती हूँ
स्वयं से भी अधिक
तुम जब बातें करते हो
समाज की कुप्रथाओं और कुरीतियों के बारे में
धर्म की आड मे फैलें आडम्बरों और कुचलन के बारे में
राजनीति में फैले भ्रष्टाचार जातिवाद परिवारवाद के बारे में
सिर्फ बातें ही नहीं करते
बल्कि उसे बदले की जिद्द करते हो
अपने आसपास के लोगों को प्रेरित
प्रोत्साहित करते हो
बदलाव होगा और इसे हम करेंगे
पहले स्वयं से
फिर दूसरों तक
तुम्हारा वह आत्मविश्वास
तुम्हें समाज सुधारक
दार्शनिक
स्वप्नदृष्टा
क्रांतिदूत बना देता हैं
और मैं तुम्हारे लिए न जाने कितने सपने देखने लगतीं हूँ
तुम्हारें साथ साथ अपने समाज के लिए
देश के लिए
हाँ बदलाव होगा
जिसे मेरे हृदय का नायक करेगा
महानायक बनकर
हाँ मैं इसीलिए तुमसे
खुद से भी अधिक प्रेम करती हूँ
यहीं हैं दिल की गहराई मे छूपी
मेरी अधूरी बातें
यथार्थ से परे

Loading...
SHARE
Previous articleहर समय कहाँ घर में रोटियां निकलती हैं।
Next article“सत्य, शिव, सुंदर”
अचिन्त साहित्य (बेहतर से बेहतरीन की ओर बढ़ते कदम) यह वेबसाईट हिन्दी साहित्य--गद्य एवं पद्य ,छंदबद्ध एवं छंदमुक्त ,सभी प्रकार की साहित्यिक रचनाओं का रसास्वादन करवाने के साथ-साथ,प्रत्येक वर्ग --(बाल ,युवा एवं वृद्ध ) के पाठकों के हिन्दी ज्ञान को समृद्ध करने एवं उनकी साहित्यिक जिज्ञासा का शमन करने हेतु प्रयासरत है। हिन्दी भाषा,साहित्य एवं संस्कृति के विपुल एवं अक्षुण्ण भंडार में अपना साहित्यिक योगदान डालने,समाज एवं साहित्य के प्रति अपने दायित्व का निर्वाह करने हेतु यह वेबसाईट प्रतिबद्ध है। साहित्य,समाज और शिक्षा पर केन्द्रित इस वेबसाईट का लक्ष्य निस्वार्थ हिन्दी साहित्य सेवा है। डॉ.पूर्णिमा राय, शिक्षिका एवं लेखिका, अमृतसर(पंजाब)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here