यूँ लड़ता है जीवन

0
272

यूँ लड़ता है जीवन ( संस्मरण)

राजकुमार,शिक्षक,अमृतसर

कल छुट्टी हुई और घर वापसी के लिए मैं अभी अपनी बाइक को किक मारने ही वाला था कि एक विद्यार्थी मेरकिे पास आया और बोला ;सर आप किस ओर जा रहे हैं ?मैं बोला ; शहर…वो बोला ; मुझे भी ले चलिए…मैंने उसे पीछे बैठने का इशारा किया और हम चल दिए… यह लड़का मेरे द्वारा पढ़ाई जाने वाली किसी भी क्लास का विद्यार्थी नही था ।…अमृतसर बायपास से कोई 7 किलोमीटर दूर है मेरा स्कूल..कल धूप और गर्मी ज्यादा थी…मैंने सरसरी तौर पे उसे पूछा कि वो कौन सी क्लास में पढ़ता है और उसने बताया कि वो दसवीं कक्षा का विद्यार्थी है…आज शहर क्यों जा रहे हो ?..मैंने पूछा …सर ,मैं हर रोज जाता हूँ ,वो बोला…मैंने पूछा क्या इतनी दूर से यहां पढ़ने आते हो ?…नही सर ,मेरा घर स्कूल के पास ही है,लेकिन स्कूल टाइम के बाद मैं शहर में काम करने जाता हूं..गाड़ियां धोता हूं …उसके ये शब्द गर्मी में आग बनकर उतरे थे..मैंने पूछा कितने पैसे बनते हैं…सर ..बंधा काम है ,1500 रुपए बन जाते हैं महीने के…बायपास सामने नज़र आ रहा था …मैंने पूछा ; बेटे किधर जाना है ?..सर मेडिकल एन्क्लेव जाना है…..मेडिकल एन्क्लेव मेरे घर की उल्टी दिशा में था…लेकिन आज मैंने अपने घर की दिशा छोड़ दी थी…मैंने अपनी बाइक को उस रास्ते पे दौड़ा दिया जहां पीछे बैठा नन्हा जीवन अपनी नामालूम मंजिल पाने के लिए संघर्ष करने जाता है।

Loading...
SHARE
Previous articleकाव्य पुष्प जवानों के नामby राहुल द्विवेदी स्मित
Next articleहिंद का लाल : करतार सिंह सराभा (24मई विशेष)
अचिन्त साहित्य (बेहतर से बेहतरीन की ओर बढ़ते कदम) यह वेबसाईट हिन्दी साहित्य--गद्य एवं पद्य ,छंदबद्ध एवं छंदमुक्त ,सभी प्रकार की साहित्यिक रचनाओं का रसास्वादन करवाने के साथ-साथ,प्रत्येक वर्ग --(बाल ,युवा एवं वृद्ध ) के पाठकों के हिन्दी ज्ञान को समृद्ध करने एवं उनकी साहित्यिक जिज्ञासा का शमन करने हेतु प्रयासरत है। हिन्दी भाषा,साहित्य एवं संस्कृति के विपुल एवं अक्षुण्ण भंडार में अपना साहित्यिक योगदान डालने,समाज एवं साहित्य के प्रति अपने दायित्व का निर्वाह करने हेतु यह वेबसाईट प्रतिबद्ध है। साहित्य,समाज और शिक्षा पर केन्द्रित इस वेबसाईट का लक्ष्य निस्वार्थ हिन्दी साहित्य सेवा है। डॉ.पूर्णिमा राय, शिक्षिका एवं लेखिका, अमृतसर(पंजाब)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here