Home घनाक्षरी

घनाक्षरी

महीप के चुनाव में (कलाधर घनाक्षरी )

मुकेश कुमार मिश्र शिक्षा ---भौतिकी परास्नातक ए-39 ब्रह्मपुरी लखनऊ । जन्म-तिथि 20 अगस्त व्यवसाय-- उत्तर प्रदेश सरकार के गृह विभाग के अधीन 2011 से कार्यरत । कलाधर...

आओ कवित्त //घनाक्षरी लिखना सीखें by Dr Purnima Rai

आओ कवित्त //घनाक्षरी लिखना सीखें by Dr Purnima Rai कवित्त --- यह मुक्तक वर्णिक छंद है ।इसे घनाक्षरी तथा मनहरण भी कहा जाता है। इसमें...

राष्ट्र प्रेम :सुरेन्द्र साधक

घनाक्षरी छंद by सुरेन्द्र साधक - दिल्ली - 9899494586   सीमा पर शत्रुओं का उतना है भय नहीं ! जितना कि डर राष्ट्र को आज गद्दारों...

रोशनी के दीप हर घर में जलाइये

गम के अंधेरे करें दूर सदा मनवा से रोशनी के दीप हर घर में जलाइये।। टूट के बिखर गये मोतियों के कंठहार फूल चुन बगिया से माला में सजाइये।। काली घटा छाये कभी  भाषा जाति झगड़ों की प्रेम की लकीर खींच बैर को भुलाइये।। वाणी में मिठास दिखे कोयल सा सुर मिले। दुखियों के आँसू पोंछ साथ मिल गाइये।। - डॉ०पूर्णिमा राय

घनाक्षरी :बेटी को बचायें by Dr Purnima Rai

बेटी को बचायें हम बेटी को पढ़ायें सब शिक्षा धन झोली डाल कन्यादान कीजिये।। खून की गिरें है बूंदें देश-हित में ही सदा बढ़ो आगे नौजवानों रक्तदान कीजिये।। धरा होगी दूषित तो मन में भी कुण्ठा जागे तन-मन स्वच्छता को पौधदान कीजिये।। नशा मुक्त युवा पीढ़ी देश का विकास करे सात्विक विचारों का भी अनुदान कीजिये।। डॉ.पूर्णिमा राय,अमृतसर।    

विश्व जल दिवस विशेष

पानी जैसे खून बहे,खून भी सफेद आज; पानी-पानी लोग हुए,प्यासा माँगे पानी है।।   प्योरी फाई घर लगा,व्यर्थ पानी फैंक रहा; पानी पीने को न मिले, पानी से...

LATEST

MUST READ

error: Content is protected !!