Home गीत

गीत

“मन के किवाड़ खोलकर नारी करे सफर “”अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं “संपादित...

"अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं " "मन के किवाड़ खोलकर नारी करे सफर " अचिन्त साहित्य विशेषांक 8 मार्च 2018 रचनाएँ एवं रचनाकार ------- करो मत कैद,(डॉ .शशि जोशी "शशी ) स्त्री(सत्या शर्मा " कीर्ति...

विजेता हम ही होयेंगे!

  विजेता हम ही होयेंगे......!!! -------------------------------------- शिकस्तों से भरी गठरी नहीं हम सिर पे ढोयेंगे- बचे कुछ स्वप्न हैं अब भी,जिन्हें हम फिर से बोयेंगे, नयी फ़सलात् होंगी मेरे इन सपनों के बीजों से - यकीं है,देर से ही हों,...

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें!!by Dr.Purnima Rai

गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें!! भारत की न्यारी महिमा को ,लोग देखने आते हैं; संस्कारों की फुलवारी में, फूल खिले मन भाते हैं। प्रेम ,समर्पण ,सहनशीलता , से दुश्मन को मारा है; ...

आज नव निर्माण के हम गीत गाएँ।

आज नव निर्माण के हम गीत गाएँ। विश्व के पथ में हम फूल ही फूल भर दें, विघ्न के हर शैल को हम धूल कर दें, निर्बलों में बल भरें,मिलकर चले सब, स्वर्ग का संसार हम भू पर...

दास्ताँ !

दास्ताँ नेह की इक छुवन प्रीत का राग है । जिन्दगी में कहीं कोई अनुराग है ।। लिख रहा है प्रणय दास्ताँ प्यार की , इश्क की आज ऐसी जली आग है ।। इक नजर में नजारे समेटे हुए...

मुट्ठी भर कलरव ( नवगीत )बालदिवस विशेष

मुट्ठी भर कलरव ( नवगीत ) मुट्ठी भर कलरव समेट कर मॊन हो गया चिड़ियाघर ** चित्रों सी शान्त भूमिकाएं भीतर वेताल की कथाएं कटी हुई जीभें लाचार कितना भी पंख फड़फड़ाएं * चुटकी भर दर्द फेंट कर मॊन हो गया चिड़ियाघर ** दृश्य हर तरफ फफूंदिये क्या जिया शहर न पूछिये तार...

गुरुपर्व की हार्दिक बधाई!

नानक-नमन   जब जब तम की चादर फैले परिधान उजले और मन मैले जब-जब पापी बारात लिए कोई बाबर शोर मचाता है तब-तब प्रकाश फैलाने को नानक सा जोगी आता है। जब मलिक भागों का वहम बढे सर पर रावण सा अहम चढ़े छत्तीस...

कुछ ऐसे आ जाए दीवाली!!

कुछ ऐसे आ जाए दीवाली( बालगीत) किसी का दामन रहे न खाली । कुछ ऐसे आ जाए दीवाली ! कल्लू के घर में उत्सव हो ! हामिद मुस्कानों से तर हो ! खुशियाँ नाचे दे -दे ताली कुछ ऐसे आ...

हर जनम में मिले यही सनम

सभी माँ एवं बहनों को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं  हर जनम में मिले यही सनम ये सौभाग्य है मेरा  जो  मिला ऐसा प्रियतम, ये दुआ है हर जनम में मुझे मिले यही सनम। खिलता रहे चेहरा उनका ...

वीर भगत सिंह के जन्मदिन 28 सितंबर पर विशेष!!

वीर भगत सिंह के जन्मदिन 28 सितंबर पर विशेष!! 1) जोश-ओ-जुनून (डॉ.पूर्णिमा राय) जोश ओ जुनून छाया था इस कदर चढ़ गये फाँसी!! भुला दिया स्वत्व स्मरण रहा ममत्व भारत माता से!! देश के जांबाज तमन्ना सरफरोशी की रही जीवनपर्यंत!! घड़ियाल बजे रेडियो,अखबार चीखे बम...

LATEST

MUST READ

error: Content is protected !!