मैं तो बहता दरिया हूँ

 मैं तो बहता दरिया हूँ  (गीत)            (राहुल द्विवेदी"स्मित") मेरी कहाँ जरूरत किसको, मैं तो बहता दरिया हूँ । जो चाहे बस...

पंचचामर छन्द

पंचचामर छन्द-- यह छंद चार चरण का वर्णिक छंद है जिसके प्रत्येक चरण में लघु गुरु के क्रम से सोलह वर्ण / अक्षर 12 12 12 12...

हाइकु और हाइगा by Dr Purnima Rai

हाइगा क्या है? जब हाइकु को किसी तस्वीर पर लिखा जाता है तब वह हाइकु नहीं हाइगा कहलाता है।..दूसरे शब्दों में.हाइकु की अभिव्यक्ति जब...

आब-ओ-हवा by Dr Purnima Rai

आब-ओ-हवा सेदोका (Dr Purnima Rai) 1) गाँव के लोग होते मिलनसार मन मौजी मलंग बहुरूपिया शहर के मुखौटे डस रहे गाँव को!! 2) बुजुर्ग स्नेह छत्र छाया मिलती संयुक्त परिवार चक्की के पाट दानों के जैसे...

पढ़े न उसने ढाई अक्षर (कहमुकरियाँ)

पढ़े न उसने ढाई अक्षर (कहमुकरियाँ ) नीरजा कमलिनी,गाजियाबाद,दिल्ली (1) रूप रंग मनभावन प्यारा जग में दिखता सबसे न्यारा जिया चुराये बन चितचोर ऐ सखि साजन ? ना सखी मोर। (2) जोर-जोर...

संत कबीरदास की वाणी का संदेश(कुछ अंश)

संत कबीरदास की वाणी का संदेश(कुछ अंश) आज इस महानात्मा के जन्मदिवस पर         "अचिन्त साहित्य " आनलाइन वेबसाइट की ओर से...

तोटक छंदby Dr Purnima Rai

तोटक छंद   तोटक छंद में कुल चरण होते हैं।इस छंद के विधान अनुसार 112×4 चार सगण अनिवार्य है ।दूसरे शब्दों में लघु लघु गुरु  ...

 सुनो व्यथा प्रभु आप हमारी!

 सुनो व्यथा प्रभु आप हमारी!  (चौपाई छंद) सुनो व्यथा प्रभु आप हमारी।हम किसान हैं दीन दुखारी।। धरती का हम सीना चीरें।उठती हिय में हैं कछु पीरें।। फसल...

वीर एवं वीरांगनाएं (विशेषांक, जुलाई 2017) – माहिया

 १* विभा रश्मि बदायूँ,उत्तरप्रदेश मोबाइल- 09414296536 ईमेल---vibharashmi31@gmail.com   कतरा कतरा दूँगा 1 कतरा कतरा दूँगा माँ मैं  दुश्मन से चप्पा चप्पा लूँगा । 2 सरहद भी जागी है सोयेगा ना वो सैनिक अनुरागी है । 3 सेना को मत...

मिश्र छंद( छप्पय छंद)by Dr.Purnima Rai

छप्पय छंदby Dr.Purnima Rai यह छंद कुण्डलियाँ की तरह ही दो छन्दों के मेल से बनता है।इसे मिश्र छंद भी कहते हैं।रोला छंद और उल्लाला...

LATEST

MUST READ

error: Content is protected !!