वीर एवं वीरांगनाएं (विशेषांक, जुलाई 2017) – आल्हा छंद

1*आभा सिंह विधा- कहानी, कविता ,लघुकथा मो- 088290-59234 abhasingh1944@gmail.com          वीर  कैप्टेन सुनीत बार्नी (जन्म-10अगस्त 1969 ,मृत्यु-9 अप्रैल 1995 यूनिट-16 सिख लाइ रेजीमेंट) भारत माँ का अनमोल रत्न, कैप्टेन सुनीत...

माहिया छंद by Dr Purnima Rai

माहिया छंद--- परिचय एवं विधान-- यह मात्रिक छंद है । इस छंद में तीन चरण हैं जिनमें 12--10--12 मात्रा विधान रहता है ।पहले और तीसरे चरण...

वीर एवं वीरांगनाएं (विशेषांक, जुलाई 2017) – गज़ल

 नारी नारी है अबला कहलाये कयूँ शक्ति शिव की सी है घबरायें क्यूँ नारी नारी है अबला कहलायें क्यूँ। रूप दुर्गा धरे जब वो दानव लडे़, भीगी बिल्ली...

दीपों से उजियार—– अहीर छंद  by Dr Purnima Rai

दीपों से उजियार----अहीर छंद by Dr Purnima Rai          (1) दीपों से उजियार। बाँट रहा वह प्यार।। मिट्टी में है हाथ। दो कुम्हार का साथ।।      ...

पाँच दोहा मुक्तक (रमेश शर्मा)

 दोहा मुक्तक ( रमेश शर्मा) 1) खत्म रसोई में हुआ , खाना जितनी बार !  माँ ने फांका कर लिया, झूठी मार डकार !!      किया...

पंचचामर छन्द

पंचचामर छन्द-- यह छंद चार चरण का वर्णिक छंद है जिसके प्रत्येक चरण में लघु गुरु के क्रम से सोलह वर्ण / अक्षर 12 12 12 12...

राधे कृष्णा (माहिया छंद )by Dr.Purnima Rai

राधे कृष्णा  (माहिया छंद) डॉ.पूर्णिमा राय 1) राधा है दीवानी बँसी बजाते हो कान्हा क्यों मस्तानी!! 2) राधे कृष्णा बोलो जन्म सुधर जाये कर्मों को भी तोलो!! 3) दुख को हँसकर टालो राधे कृष्णा की महिमा...

सावन आया

 सावन आया   (पादाकुलक छ़ंद) आंगन आंगन ,सावन आया गीत प्रणय का,सबने गाया भोले शंकर की है पूजा नहीं जहाँ में कोई दूजा हर मन ध्यावे,लेकर आशा पूर्ण मनोरथ,न हो...

भावों का विस्तार(कुण्डलियाँ) by Dr Purnima Rai

कुण्डलियाँ विषम मात्रिक छंद है।  इसमें छः चरण होते हैं अौर प्रत्येक चरण में 24 मात्राएँ होती हैं। प्रथम दो चरण दोहा छंद से...

शुभमाल छंद :करो न कुतर्क

*शुभमाल छंद* शिल्प:- (१२१ १२१) {दो-दो चरण समतुकांत, ६ वर्ण प्रति चरण} पिता सुविचार। भरे उर प्यार। मिले अधिकार। बने सरदार॥(१) सिया पति राम। सजे उर श्याम॥ मनोहर गान। लगा सुर ध्यान॥(२) प्रचार प्रसार। प्रभाव अपार॥ प्रकाश प्रभात। हरे तम...

LATEST

MUST READ

error: Content is protected !!