कविताएं

सुनो जवाहर!!बालदिवस की हार्दिक बधाई

1*बेचारा सा बाल-संसार.. सुनो जवाहर..जिनको तुमने जन्मदिवस सौंपा था.. उनके कोमल हाथों ने ही वक्त का बोझ उठाया.. जिनको सुर्ख गुलाब समझकर.. तुमने कोट पे टांगा... उनको तेरे देश वालों ने मिट्टी...

गज़ल

तेरी आवारगी हमको सनम भाने लगी हैby Dr.Purnima Rai

तेरी आवारगी हमको सनम भाने लगी हैby Dr.Purnima Rai तेरी आवारगी हमको सनम भाने लगी है। मुहब्बत के तराने जिंदगी गाने लगी है।। गगन में चाँद निकला...

ईदुल अज़हा की करोड़ मुबारकबाद

ईदुल अज़हा की करोड़ मुबारकबाद। हम्द' उससे पोशीदा नहीं हालात जो मा'बूद है। जानता है वो तेरी हर बात जो मा'बूद है।। माँग उससे ही ख़ुशी तू ज़िंदगी...

हाइकु

लघुकथा

चप्पल (लघुकथा )by Dr.Purnima Rai

चप्पल (लघुकथा )Dr.Purnima Rai आज सब छात्र छात्राएँ बेहद खुश थे।खुश इसलिये कि आज वह एक लंबे अरसे बाद शैक्षिक भ्रमण हेतु सांइस सिटी देखने...

दोहे

प्रकाशित पुस्तकें

ओस की बूँदें (काव्य संग्रह) का लोकार्पण समारोह (झलकियाँ)

1*ओस की बूँदें ( डॉ.पूर्णिमा राय) काव्य संग्रह 2*"सुरेन्द्र वर्मा का साहित्य "आलोचना ग्रंथ by Dr purnima Rai

घनाक्षरी

आलेख

छंद ज्ञान

error: Content is protected !!