कविताएं

एक हसीन जहां

एक हसीन जहां (कविता) कुदरत ने बख्शा है हमको एक हसीन जहां, टुकड़े-टुकड़े कर डाला क्यों तूने इंसान । कहीं बनाया अमेरिका कहीं पर हिंदुस्तान , कहीं पर...

गज़ल

नफरतों का शहर देख लो by Dr.Purnima Rai

गजल---- नफरतों का शहर देख लो रो रहा हर बशर देख लो।। लाश बेटे की है काँधे पे, माँ का लख्ते जिगर देख लो।। आज बोझिल हुई साँस भी, जिन्दगी...

हाइकु

लघुकथा

अपने मुँह मियाँ मिट्ठू

अपने मुँह मियाँ मिट्ठू अरे ये क्या है सुधा ये क्या लिखा हैं तुमने .....गुस्से से लाल पीले हुए जा रहे पति परमेश्वर की तो...

दोहे

प्रकाशित पुस्तकें

ओस की बूँदें (काव्य संग्रह) का लोकार्पण समारोह (झलकियाँ)

1*ओस की बूँदें ( डॉ.पूर्णिमा राय) काव्य संग्रह 2*"सुरेन्द्र वर्मा का साहित्य "आलोचना ग्रंथ by Dr purnima Rai

घनाक्षरी

आलेख

छंद ज्ञान

error: Content is protected !!